चाय को दुनिया भर में पसंद किया जाता है इसके दीवाने इसे विभिन्न रूपों में लेना पसंद करते हैं कमाल की बात तो यह है की चाय पीने के फायदे जानने के लिए इस पर कई वैज्ञानिक शोध किये जा चुके हैं।पर चाय पीने के फायदे और नुकसान दोनो है। जिससे इसकी लोकप्रियता और भी बढ़ गई है। आपको जानकार हैरानी होगी की चाय वैकल्पिक रूप से कई शारीरिक समस्याओं के प्रभाव व उनके लक्षणों को कम करने में मदद कर सकती हैं इसी बात को ध्यान में रखते हुए मैं इस लेख में चाय पीने के लाभ बता रही हूँ इसके साथ ही यहाँ हम चाय के उपयोग और चाय पीने के नुक्सान भी समझने का प्रयास करेंगे.

आइए मैं आपको बताती हूँ की चाय पीने के फायदे कौन सी है

  • चाय पीने के फायदे( benifits of tea )
  • चाय के पौष्टिक तत्व(tea nutritional value)
  • चाय का उपयोग (how to use tea)
  • ज्यादा चाय पीने के नुक्सान (side effect of tea)

विषय सूची

चाय पीने के फायदे (benifits of tea)

चाय पीने वालों के लिए यह किसी एनर्जी ड्रिंक से कम नहीं है इसे दुनिया भर में सबसे ज्यादा पीने वाला पेय पदार्थ माना जाता है.वहीं सर्दियों के दिनों में चाय किसी औषधि से कम नही है चाय का वैज्ञानिक नाम कमीलया सिनेसिस(camellia sinensis)है इसमें कई औषधीय गुण है जो कैंसर ह्रदय रोग गठिया और मधुमेह के जोखिम को कम कर सकते हैं आगे क्रमवार चाय पीने के फायदे विस्तार से जान सकते हैं उससे पहले ये समझना जरुरी है की चाय के अधिक सेवन के कारण कैफीन के नकारात्मक परिणाम भी सामने आ सकते हैं साथ ही ये भी ध्यान रखना होगा की चाय को किसी समस्या का पूर्ण उपचार नहीं कहा जा सकता किसी भी समस्या का पूर्ण इलाज डॉक्टर से परामर्श पर ही निर्भर करता है.

1 चाय के फायदे से कैंसर से बचाव।

कैंसर से बचाव में चाय कुछ हद्द तक फायदेमंद साबित हो सकती है। दरअसल,चाय में पॉलीफेनोल्स पाये जाते है जो कैंसर की कोशिकाओं को रोकने में मदद करती है। ग्रीन टी और गुलट्ठियों ट्रांस्फ़ेरेज़ और कीनोंन जैसे एंजाइम को सक्रिय करने का काम कर सकती है जो कैंसर को बढ़ने से रोकता है। इसके अलावा ग्रीन टी और ब्लैक टी में मौजूद antibacterial ,antiauxident, प्रभाव दिखा देता है साथ ही इस बात का खास ख्याल रखे कि कैंसर एक घातक बीमारी है

2.हृदय के लिए फायदेमंद है चाय

चाय का सेवन करने वाले लोगों में ब्लड प्रेशर सीरम में लिपिड मात्रा और डायबिटीज नियंत्रित रहती हैं साथ ही कोलेस्ट्रॉल भी कम होता है जिससे शरीर को ह्रदय रोग होने की सम्भावना कम होती है फ़िलहाल ह्रदय स्वस्थ्य के मामले में चाय के बेहतर प्रभाव जानने के लिए अभी और वैज्ञानिक शोध की जरुरत है संतुलित मात्रा में ग्रीन टी या ब्लैक टी का सेवन ह्रदय को स्वस्थ रखने में मददगार साबित हो सकता है.

3.गठिया में चाय पीने के फायदे

गठिया से व्यक्तियों के जोड़ों में दर्द कठोरपन बनी रहती है इस समस्या में ग्रीन टी आराम पहुंचा सकती हैं ग्रीन टी और ब्लैक टी में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाये जाते हैं इसलिए कहाँ जाता है कि गठिया में ग्रीन टी और ब्लैक टी उपचार के लिए कुछ हद तक सहायक होती है यह कितनी प्रभावी साबित होगी इस सम्बन्ध में अभी और शोध की आवश्यकता है

4. चाय के सिर दर्द में भी राहत।

जब भी सर में दर्द होता है तो अक्सर चाय की याद आती है सर दर्द में भी चाय पीने से बहुत आराम मिलता है। दरअसल इसमें कैफीन की मात्रा पाई जाती है जो सर दर्द के असर को कुछ कम कर सकती हैं इस अध्ययन के अनुसार 237 ml काली चाय में करीब 30 से 80 ml कैफीन होता है ध्यान रहे कि कैसे सर दर्द का इलाज नहीं है एक स्वस्थ व्यक्ति प्रतिदिन 400 मिलीग्राम कैफीन का सेवन कर सकता है इससे अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन अनिद्रा और बेचैनी जैसी समस्याओं का कारण बन सकती है

5.एंटी एजिंग गुणों से भरपूर

बढ़ती हुई उम्र के प्रभाव को कम करने में भी चाय लाभकारी हैं ग्रीन और वाइट टी में पोलीफेनोल नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो कोशिकाओं को डैमेज होने से बचा सकती हैं वही काली चाय में थी फ्लोरीन होता है यह तत्व झुर्रियों से बचाव के मामले में त्वचा को सुरक्षा प्रदान करती हैं ऐसे में बेहतर लाभ के लिए चाय को पीने के साथ त्वचा पर लगाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है

6.एंटीऑक्सिडेंट

चाय में एंटीऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा पाई जाती है.जो शरीर में फ्री रेडिकल्स की वजह से होनी वाली ह्रदय रोग ,कैंसर,एजिंग की समस्या होने की आशंका काफी हद्द तक कम हो सकती है इसलिए एंटीऑक्सीडेंट खाद्य पदार्थो में शामिल चाय स्वास्थ के लिए लाभकारी साबित हो सकती है चाइए एंटीऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा पायी जाती है

7.सूजनरोधी

सूजन से जुड़ी परेशानियों में चाय पीने के फायदे देखे जा सकते हैं दर असल चाय में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सूजन को दूर कर सकते हैं सोजन से जुडी समस्याओं जैसे हिरदय रोग और मधुमेह का उपचार करने में चाय का सेवन लाभकारी साबित हो सकता है

चाय के पौष्टिक तत्व (tea nutrition value)

पोषक तत्वों से भरपूर चाय के लाभ तो आप जान गए नीचे हम ब्लैक टी में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे बता रहे हैं

  • पानी = 99.7g
  • ऊर्जा = 1kcl
  • कार्बोहाइड्रेट = 0.3g
  • आयरन =0.02
  • मैग्नीशियम = 3mg
  • जिंक = 0.02mg
  • कॉपर = 0.01mg
  • राइबोफ्लेविन = 0.014mg
  • फोलेट =5ug
  • कॉलिन = 0.4mg
  • कैफीन = 20mg

चाय का उपयोग (how to use tea)

चाय बनाने के लिए अच्छा tea स्तेमाल करना चाय

क्लिक best tea

चाय का उपयोग पेय के रूप में ही किया जाता है चाय पीने के लाभ उठाने के लिए इस उपयोग करने के निम्न प्रकार के तरीके हो सकते हैं

  1. चाय पत्ती को पानी के साथ उबालकर कई तरह से चाय बनाई जा सकती है इसमें स्वाद के अनुसार नीम्बू इलायची और अदरक मिलाया जाता है अदरक और नींबू की चाय अक्सर लोग पसंद करते हैं
  2. ग्रीन टी के फायदे बालों को स्वस्थ रखते हैं इसके लिए ग्रीन टी से बालों को धोया जा सकता है ग्रीन टी के बहुत सारे फायदे होते हैं
  3. कैफीन की मौजूदगी के कारण चाय पत्ती का प्रयोग डार्क सर्किल को दूर करने के उपाय के तौर पर भी किया जा सकता है इसके लिए ग्रीन टी बैग को आँखों पर कुछ मिनट के लिए रखा जा सकता है इससे आपकी झुर्रियां गायब हो जाती है
  4. हर्बल चाय में आइस क्यूब डालकर आइस टी आनंद लिया जा सकता है इससे आपको बहुत ही आनंद मिलता है
  5. दूध की चाय भी बनाकर पी सकते हैं इसके लिए आपको दूध चाय की पत्ती और शक्कर का उपयोग कर सकते हैं और सर दर्द से आराम पा सकते हैं
  6. सर्दी खांसी से राहत पाने के लिए आप अदरक तुलसी और इलायची युक्त वाली चाय का सेवन कर सकते हैं इससे आपको बहुत ही आराम मिलेगी
  7. काली मिर्च और दालचीनी के उपयोग के साथ बनाए गए चाय को काढ़े के रूप में ले सकते हैं इससे आपके गले में जो भी प्रॉब्लम है सब ठीक हो जाएगी

कितनी मात्रा में चाय पीनी चाहिए

शरीर के आवश्यक पोषक तत्वों की जरुरत को ध्यान में रखते हुए एक दिन में दो से तीन कप चाय पी जा सकती है क्यूंकि चाय पीने के फायदे के साथ इसके कई नुकसान भी है जिसके बारे में हम आपको आगे की लेख में बताएंगे इसलिए चाय की हार्दिक सेवन से हमेशा परहेज करना चाहिए.

जानते हैं चाय पीने के नुकसान क्या क्या हो सकते हैं

चाय का सेवन एक सीमा तक सही रहता है क्यूंकि चाय का अधिक सेवन निम्नलिखित समस्याओं का कारण बन सकता है

  1. आयरन के अवशोषण को कम करती है चाय=चाय में टैनिन नाम का यौगिक पाया जाता है यह शरीर में आयरन को अवशोषित करने की क्षमता को कम कर सकता है यही कारण है की भोजन करने के तुरंत बाद चाय नहीं पीना चाहिए.
  2. चिंता और स्ट्रेस का कारण बन सकती है चाय=चाय में कैफीन होता है और कैफीन से अधिक सेवन से मस्तिष्क संबंधी रोगों का सामना करना पड़ सकता है अत्यधिक मात्रा में चाय का सेवन मानसिक चिंता को बढ़ा सकती हैं
  3. अनिद्रा और ह्रदय रोग का कारण बन सकते हैं=मैं लेख में बता चुकी हूँ की चाय कुछ हद तक ह्रदय रोग में सहायक हो सकती है इसके बावजूद चाय में मौजूद कैफ़ीन के कारण इसका अधिक सेवन चिंता और स्ट्रेस बढ सकती है
  4. सीने में जलन पैदा कर सकती हैं=चाय में कई सीन है इसका जिक्र हम इस लेख में पहले भी कर चुके हैं पेट में गास्टिक एसिड की मात्रा को बढ़ा सकती है जिसके कारण सीने में जलन पैदा करती है इससे एसिडिटी से जूझ रहे मरीज को चाय का सेवन नहीं करना चाहिए.
  5. गर्भावस्था में चाय का सेवन=गर्भावस्था के दौरान चाय के रूप में अधिक कैफीन का सेवन गर्भ यूजपात और जन्म के समय शिशु के कम वजन का कारण बन सकता है

उम्मीद करते हैं कि इस लेख में बताए गए चाय पीने के फायदे आपको समझ में आ गए होंगे इसके लाभ को पाने के लिए आप लेख में बताए गए तरीकों को सकते हैं चाय का उपयोग करते समय इस बात को ध्यान में रखें कि इसमें कैफीन मौजूद होता है जो लेख में बताए गए दुष्प्रभाव का कारण बन सकता है इस लेख में बताए गए चाय पीने के लाभ को अपने तक सीमित न रखें बल्कि अपने दोस्तों व परिचितों के साथ भी साझा करें

आयुष्मान कार्ड कैसे बनाते है 5 lack tak ka muft ilag

Leave a Reply

Your email address will not be published.