टॉप 10 भारतीय उद्यमी(Success Stories of Indian Enterpreneur)

भारत में कई व्यवसाय सफलता की कहानियां मौजुद है जिनमें से कुछ सफलता युवा उदयमियों की है क्योंकि उन्हें अपने उत्कृष्ट आइडिया पर काम करके अच्छा बिजनेस खड़ा किया है जिनके वैशविक तौर पर लोकप्रियता मिली है आईये जानते हैं ऐसे ही कुछ भारतीय युवा उदयमियो के बारे में success stories of Indian entrepreneurs

भारत के इन युवा उदयमियों की कहानियों को सभी के लिए प्रेरणा का स्त्रोत हो सकता है जो अपने जीवन में कुछ बड़ा और सबसे हटकर करना चाहते हैं या अपना बिजनेस स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं

Success Stories of Indian Entrepreneur. list of top 10 young Indian Entrepreneurs

1.रितेश अग्रवाल

रितेश अग्रवाल ऐसे शक्श हैं जिन्होन महज 18 साल की उम्र ही OYO Rooms स्थापना की थी एक लॉज में रहने के दौरान रितेश अग्रवाल अलग-अलग बजट वाले लोगों के लिए आपके आवास के आइडिया से काफी प्रभाव हुए थे आईएसआई आइडिया को ध्यान में रखते हुए उन 2013 में अपनी स्कूल छोड़ दी और गुरुग्राम हरियाणा में सिर्फ 11 आवास के साथ OYO Rooms की स्थापना की जिसके बारे में आज हर कोई जानता है

ओयो रूम्स भारत में ज्यादा से ज्यादा आवाज को अपने बिजनेस मॉडल के तहत जोड़ता चला गया है और आज दुनिया में सबसे आगे आवास एग्रीगेटर में से एक है जो अभी सभी महाद्वीपों में फेल चुका है और इस कंपनी का लगभग 100 देशो में परिचालन है ओयो रूम्स भारत का एक वैश्विक ब्रांड बन चुका है इसके आने के बाद लोगों को अपने बजट के अनुसार आवास खोजने और उचित भाव में होटल में कैमरा बुक करने की सुविधा मिलती है

2. बायजू रवींद्रन

Byju Learning App के बारे में आज हर कोई जानता है इसके बड़े पैमाने पर विज्ञापन चलाए जा रहे हैं इसे 2011 में बैजू रवींद्रन और दिव्या गोकुलनाथ ने लॉन्च किया था वोल्ट डिज्नी कंपनी के सहयोग के कारण Learning app को दुनिया भर में ख्याति प्राप्त हुई है

आज बायजू की दुनिया भर के विभिन्‍न देश के स्‍टूडेंट्स द्वारा इसका उपयोग किया जा रहा है जो स्कूली विषयों को लेकर इंजीनियरिंग और डॉक्टर की पढ़ाई कर रहे हैं उनको ऑनलाइन सीखने का मौका प्रदान करती हैं जटिल से जटिल विषयों को ऑनलाइन सीखने के लिए और प्रवेश परीक्षा को क्रैक करने के लिए प्रयोग होता है

3.तिलक मेहता

तिलक मेहता का बिजनेस आइडिया Paper n parcel भारतीय सरलता का एक ज्वलंत उदाहरन है पेपर्स एंड पार्सल एक ऑनलाइन कूरियर कंपनी है जिसकी स्थापना तिलक मेहता ने की थी वह कुछ घंटों ये 24 घंटों के भीतर मुंबई के विभिन कार्यालय में पत्र और दस्तावेज पहचानते हैं

अपनी इस सर्विस के लिए तिलक मेहता ने मुंबई के लगभाग 500 डब्बा वालों के साथ किया किया जो घर के कार्यालय तक लॉन्च पार्सल पहुंचते हैं या लॉग कंपनी की ओर से कागजात और पार्सल पहुंचाते हैंhttps://sugermint.com/successful-entrepreneurs-of-india/

4.सुमित शाह

Dukaan App के संस्थान और सीईओ सुमित साहने 2014 में 19 साल की उम्र में शुरुआत की थी लोग एक साधारण ऐप का इस्तेमाल करके किराने का समान ऑनलाइन ऑर्डर कर सकते हैं सुमित सहने स्थान किराना स्टोर के साथ बिजनेस करने का फैसला किया जो उनके पास अपने पड़ोस में सबसे तेज डिलीवरी प्रदान कर सके

बहुत से छोटे किराना स्टोर अब इस एप की बदलत ऑनलाइन मौजुद है या एफ सिमित या बीना बजट वाले छोटे बिजनेसमैन को ऑनलाइन किराना बाजार के लिए अनुमति देता है पडोस के स्टोर से डिलीवरी तेज होती है और लोगों को रेट भी अच्छी मिलती है इसलिए आप बड़ी संख्या में लोग दुकान ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं

5.फरहाद एसिडवाला

फरहाद एसिडवाला Rockstch Media और Cybernetiv Digital संस्थान के लिए कंपनी वेब डेवलपमेंट और इनहाउसमिंट advertisement और मार्केटिंग जैसे services प्रदान करती है फरहाद ने 13 साल की उमर में ₹1000 के निवेश के साथ अपना उद्यम शुरू किया था उन्हें एक वेबसाइट में निवेश किया और अपनी कंपनी को ऑनलाइन की थाराड में, क्षेत्र में अपने काम के लिए भारत में काई पुरस्कार जीते हैं कंपनी भारत के कुछ सबसे बड़े निगमों को वेब इनहाउसमिंट सेवा प्रदान करती है

6.दिव्या गंडोत्रा टंडन

दिव्या गंडोत्रा टंडन इसको बीट्स प्राइवेट लिमिटेड की संस्थान और निदेशक है उनकी स्टार्टअप दूसरों की मदद करने के जुनून के रूप में शुरू हुआ जिसके जारी लोगों को किसी भी चीज के बारे में अधिक जानने में मदद मिलाती है जिसे वह खरीदना चाहते हैं

TheScoopBeats नाम से एक YouTube चैनल शुरू किया जहां वह विभिन्‍न वास्तुओं को अनबॉक्स करती है और जनता के लिए उनकी विशेषताओं और उपयोगों का मदद करती है।चीजों का वर्णन करने के दिव्या के उत्कृष्ट तरिकों के करण चैनल जल्दी ही भारतीयों के बीच काफी लोकप्रिय बन गया

7.अखिलेंद्र साहू

अखिलेंद्र साहू ने महाराज 17 साल की उम्र में अपना स्टार्टअप ASTNT Pvt Ltd शुरू किया था यह उद्योग में अंतर दृष्टि प्राप्त करने के लिए शैलेंद्र साहू ने एक फ्रीलांसर के रूप में काम शुरू करना शुरू किया सभी टाइप के ऑनलाइन काम किए क्या अनुभव के साथ उन्होंने अपना खुद का बिजनेस शुरू करने का फैसला किया जो आज भारत की सबसे बड़ी आईटी सर्विस कंपनी में से एक है

8.त्रिसनित अरोरा

त्रिसनित अरोरा TAC Security के नाम से जाने वाली साइबर सिक्योरिटी फॉर्म के संस्थान और सीईओ है अनहोन एक थी कैल हैकिंग में एक कोर्स के बाद भी इस कंपनी की शुरुआत की एथिकल हैकिंग में उनकी विशेष इतनी प्रसिद्ध हो गए की पंजाब पुलिस को कई साइबर अपराध के मामलों को सुलझने के लिए उनकी सेवाओं की सुचिबद्ध करना पड़ा

टीएससी सिक्योरिटी के पास भारतीय उद्योग के कुछ टॉप नाम के साथ प्रमुख साइबर सुरक्षा समझौता हैं जिनमें एचडीएफसी एयरटेल एनपीसीए और रिलायंस का समूह में शामिल है

9.श्री लक्ष्मी सुरेश

श्री लक्ष्मी सुरेश एक वंडरकाइंड है अपने क्षेत्र में अधिक प्रशिक्षण के बाद श्री लक्ष्मी सुरेश ने अपनी पहली वेबसाइट विक्सित की जब वह केवल 6 साल की थी बाद में उनके अपने स्कूल के लिए वेबसाइट डिजाइन की अपनी प्रतिभा का उपयोग करते हुए उन 2009 में केवल 11 वर्ष की छोटी सी उम्र में पहली कंपनी की स्थापना की जिसे eDisign के नाम से जाना जाता है

श्री लक्ष्मी सुरेश भारत की सबसे कम उम्र की सीईओ और सबसे कम उम्र की वेब डिजाइनर है फिर उसकी एक और कंपनी की स्थापना की जिसे TinyLogo के नाम से जाना जाता है जो सभी प्रकार के व्यापार के लिए लोगो और अन्य चीजे डिजाइन करती है अब उनकी कंपनी कस्टमर को डिजिटल मार्केटिंग सर्विस भी प्रदान करती है

10. नितिन कामत और नितिन कामत

निखिल कामत और निखिल कामत भारत के सबसे बड़े डिस्काउंट स्टॉक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म Zerodha के संस्थापक है उनके 2010 में बेंगलुरु से जीरोधा लॉन्च किया और लगभग 10 वर्षों में 50 लाख से अधिक यूजर्स प्राप्त कर चुके हैं लगभग सभी प्रकार के व्यक्ति जो शेयरो में निवेश या बिजनेस करते हैं अनुभव खिलाड़ी से लेकर नौसिखियों तक सभी जीरोधा वेबसाइट या ऐप का इस्तेमाल जरूर करते हैं

success story of Indian entrepreneur सही बात साबित होती है कि entrepreneur बनने के लिए कोई उम्र की सीमा नहीं होती ना ही ज्यादा निवेश की आवश्यकता होती है होती है तो सिर्फ एक यूनिक आइडिया की जो लोगों की समस्या का समाधान आसानी से कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.